NCERT Solutions for Class 7 English An Alien Hand Chapter 2 Bringing up Kari

NCERT Solutions for Class 7 English An Alien Hand Chapter 2 Bringing up Kari

Click here to get access to the best NCERT Solutions for Class 7 English. Each and every question of NCERT Solutions for Class 7 English An Alien Hand Chapter 2 Bringing up Kari has been answered with easy to download solutions in PDF format

Bringing up Kari NCERT Solutions for Class 7 English An Alien Hand Chapter 2

Bringing up Kari NCERT Text Book Questions and Answers

Answer the following questions:

Question 1.
The enclosure in which Kari lived had a thatched roof that lay on thick tree stumps. Examine the illustration of Kari’s pavilion and say why it was built that way.
Answer:
Pavilion was built on a thick tree stem so that Kari would not fall on bumping against the poles.

Question 2.
Did Kari enjoy his morning bath in the river ? Give a reason for your answer.
Answer:
We can say that Kari enjoyed his bath as he lay down on the sand bank while the narrator rubbed him with clean sand. However, when the narrator rubbed him with water, he squealed with pleasure.

Question 3.
Finding good twigs for Kari took a long time. Why?
Answer:
It took a long time to find twigs for Kari because if the twig is mutilated, Kari would not touch it. That is why the narrator had to climb all kinds of trees to get delicate and
tender twigs.

Question 4.
Why did Kari push his friend into the stream ?
Answer:
Kari had pushed his friend into the stream because a boy was lying flat on the bottom of the river. Kari had tried to save the boy and ultimately he was successful.

Question 5.
Kari was like a baby. What are the main points of comparison ?
Answer:
Kari was like a baby and he had to be trained to be good. He did a lot of mischief. Like a child he played pranks, and took away all the fruits kept on the plate.

Question 6.
Kari helped himself to all the bananas in the house without anyone noticing it. How did he do it?
Answer:
Kari after tasting ripe bananas, developed a taste for these. He was quite a cunning baby elephant. Now, apparently by making his trunk appear like a black snake, he would take away all the fruits.

Question 7.
Kari learnt the commands to sit and to walk. What were the instructions for each command ?
Answer:
Kari was taught to sit down, to walk, go slow, etc. The instruction given for sitting down was ‘Dhat’ and then Kari was pulled by the ear. It took Kari three weeks to learn ‘Dhať. The instruction given for walking was Mali’ and his trunk was pulled forward. This was a signal to walk forward. Kari learnt ‘Mali’ after three lessons.

Question 8.
What is ‘the master call? Why is it the most important signal for an elephant to learn?
Answer:
Master call is a kind of strange hissing, howling sound. The sound appears as if a snake and a tiger are fighting. This call makes you get out of a jungle when everything is dark except stars in the sky. This call makes an elephant pull down the trees so that the animals are frightened.

Bringing up Kari Introduction

Kari is a five-month-old baby elephant. He lives and grows up with his nine-year-old friend and keeper. Kari saves a boy from drowning. Kari becomes fond of ripe bananas. When he is caught stealing bananas, he accepts the chiding with dignity. Kari is a fast learner. He successfully masters all signals and sounds he is taught.

Bringing up Kari Word notes

NCERT Solutions for Class 7 English An Alien Hand Chapter 2 Bringing up Kari

Bringing up Kari Complete hindi translation

Part -I

Kari, a…… ………….from drowning. (Page 7)

  • कारी, पाँच महीने का शिशु हाथी, अपने नौ वर्षीय दोस्त और रक्षक के साथ रहकर पल बढ़ रहा है।
  • कारी अधिक नहीं खाता-एक दिन में लगभग 16 किलोग्राम स्वादिष्ट टहनियाँ।
  • विनोदपूर्ण और भावुक, कारी एक लड़के को डूबने से बचाता है।

1. Kari, the…. ……….about. (Page 7)

कारी पाँच महीने का हाथी था जब उसको मुझे ध्यान रखने के लिए सौंपा गया। मैं नौ साल का था और अगर मैं पैर के अंगूठे के बल खड़ा होता तो मैं उसकी पीठ तक पहुँच पाता था। वह दो साल तक उतनी ही ऊँचाई तक रहा। हम एक साथ बड़े हुए, इसलिए शायद कभी पता नहीं लग पाया कि वह कितना ऊँचा है। वह छप्पर की छत के नीचे मंडप में रहता था जो एक पेड़ के चौड़े तने पर टिका हुआ था ताकि ज़ब कारी की उसके साथ टक्कर हो तो छत उस पर न गिर सके।

2.One of the….. …………….long time. (Page 7)

पहली चीजों में से एक जो कारी ने की वह थी एक लड़के की जिंदगी बचाना। कारी अधिक नहीं खाता था फिर भी उसको चालीस पाउंड टहनियाँ हर रोज चबाने और खाने को चाहिए थीं। हर रोज प्रातःकाल मैं उसे नदी में नहलाने ले जाता था। वह रेत पर किनारे लेट जाता और मैं उसे एक घंटे तक साफ रेत से मलता। उसके बाद वह बहुत देर तक पानी में लेटा रहता।

3.On coming….. …………….touch it.(Pages 7-8)

पानी से बाहर निकलने पर उसकी चमड़ी आबनूस की तरह चमकती और जैसे ही मैं उसकी पीठ को पानी से मलता तो वह खुशी से चीख मारता। तब मैं उसे कान से पकड़ कर जंगल में छोड़ आता क्योंकि हाथी को आगे ले जाने का यही आसान तरीका था और फिर मैं जंगल से उसके रात के खाने के लिए कुछ स्वादिष्ट टहनियाँ ढूँढ लाता। इन टहनियों को काटने के लिए बहुत ही तेज कुल्हाड़ी की जरूरत होती है। कुल्हाड़ी के तेज करने में लगभग आधा घंटा लगता है क्योंकि हाथी कटी-फटी टहनी को नहीं छूता।

4. It was not…….. ……….there. (Pages 8-9)

कारी के लिए टहनियाँ और पौधे (बालवृक्ष) लाना आसान न था। मुझे बहुत नरम और स्वादिष्ट टहनियों के लिए हर तरह के पेड़ों पर चढ़ना पड़ता था। उसे बरगद पेड़ की युवा टहनियों का बहुत शौक था जो एक पत्तियों व टहनियों के गिरजाघर की तरह बढ़ती थीं। एक दिन मार्च के महीने में मैं वसंत के मौसम में कुछ टहनियाँ इकट्ठी कर रहा था तब मैंने कारी को दूर से बुलाते सुना। चूंकि वह अभी भी बहुत युवा था, इसलिए उसकी पुकार हाथी से ज्यादा बच्चे की थी। मैंने सोचा कि कोई उसे चोट पहुंचा रहा है, इसलिए मैं पेड़ से नीचे उतरा और जहाँ उसको जंगल के किनारे छोड़ आया था मैं वहाँ दौड़ा, पर वह वहाँ नहीं था।

5. I looked all.. ………….the river. (Page 9)

मैंने चारों तरफ उसे देखा, पर मैं उसे ढूँढ न सका। मैं पानी के किनारे तक गया, और मैंने तल पर किसी काली चीज को संघर्ष करते हुए पाया। तब वह ऊँचा उठा और यह मेरे हाथी की सूंड थी। मुझे लगा वह डूब रहा था। मैं असहाय था क्योंकि मैं पानी में कूद कर उसका 400 पाउंड का शरीर बचा नहीं सकता था क्योंकि वह मुझ से बहुत ऊँचा था। पर मैंने उसकी पीठ को ऊपर देखा और जैसे ही उसने मुझ से आँख मिलाई वह चिंघाड़ता हुआ ऊपर आने की कोशिश करता रहा। तब फिर चिंघाड़ते हुए उसने मुझे पानी में ढकेल दिया और जैसे ही मैं पानी की धारा में गिरा तो मैंने एक लड़के को नदी के तल पर सीधे पड़े देखा।

6. He had……………………. ………………………me down. (Page 9)

वह तल तक पूर्णतया नहीं पहुंचा था परन्तु लगभग तैर रहा था। मैं पानी के तट तक साँस लेने पहुंचा और वहाँ कारी अपना पैर रेत में धंसा कर खड़ा था और उसकी सूंड इस तरह से फैली हुई थी जैसे कि उसका हाथ मेरा इन्तजार कर रहा हो। मैंने फिर गोता लगाया और डूबते लड़के को तल के ऊपर खींचा पर मैं एक अच्छा तैराक न था, इसलिए मैं किनारे तक तैर नहीं आ पा रहा था और पानी का धीमा बहाव मुझे नीचे की ओर बहा रहा था।

7. Seeing us. …..my hand. (Pages 9-10)

हमें पानी के साथ बहता देख कारी जो अधिकतर धीरे चलता है और बहुत भारी-भरकम है, वह अचानक बाज की तरह झपटा और पानी के मध्य में आकर, उसने अपनी सैंड आगे बढ़ाई। मैंने उसे पकड़ने के लिए हाथ फैलाया पर वह फिसल गया। मैंने अपने आप को पानी में फिर से बढ़ते हुए महसूस किया पर इस बार मैंने ऐसा पाया कि मैं नदी के तल तक डूब गया था और मैंने बहुत कोशिश से पैरों पर बल दुगुना किया और स्वयं को नदी के तल से किनारे की तरफ ऊपर ले गया बावजूद इसके कि मैंने डूबते लड़के को हाथ से पकड़ा हुआ था। .

8. As my ……… …..both ashore. (Page 10)

जैसे ही मेरा शरीर ऊपर आया मुझे गर्दन के पास खिंचाव सा महसूस हुआ। इससे मैं डर गया; मुझे लगा जैसे कि कोई जल-जीव मुझे निगल लेगा। मुझे कारी की चीख सुनाई दी और तब मुझे ज्ञात हुआ कि उसकी सैंड मेरे गले से लिपटी थी। उसने हम दोनों को किनारे पर खींच लिया।

Part-II

Kari becomes……….. ……….. he deserves. (Page 10)

  • कारी पके हुए केलों का शौकीन हो जाता है।
  • वह अपने दोस्त की इच्छा के विपरीत खुद की सहायता पर विश्वास करता है।
  • शान के साथ कारी चुपचाप डाँट सहन कर लेता है जिसके लिए वह स्वयं को जिम्मेदार समझता है।

9. Kari was ……….. …………..than ever. (Page 10)

कारी एक बच्चा था। उसको अच्छा बनने का प्रशिक्षण देना पड़ता था और अगर आप उसको उसकी शरारत के बारे में न बताओ तब वह और अधिक शरारत करने लगता था।

10. For instance, … ………….done it. (Page 10)

उदाहरण के लिए, किसी ने उसको एक दिन खाने को केले दिए। जल्दी ही उसे पके हुए केलों के लिए अत्यन्त शौक (प्यार) उत्पन्न हो गया। हम खाने वाले कमरे में खिड़की के पास मेज पर एक बड़ी प्लेट में फल रख देते थे। एक दिन उस मेज से सारे केले गायब हो गए और मेरे परिवार के सदस्य घर के नौकरों पर सारे फल खाने का आरोप लगाते रहे। कुछ दिन बाद फल फिर गायब हो गए; इस बार आरोप मुझ पर लगा, और मुझे मालूम था कि मैंने ऐसा नहीं किया था।

11. It made me … …………..on twigs. (Page 10)

मुझे अपने माता-पिता और नौकरों पर बहुत गुस्सा आया, क्योंकि मुझे मालूम था कि सारे फल उन्होंने लिए थे। अगली बार जब फल गायब हुए तो मुझे कारी के मण्डप में कुचला हुआ केला मिला। मुझे बड़ी हैरानी हुई क्योंकि मैंने कभी भी वहाँ पर फल नहीं देखा था और वह हमेशा टहनियों पर जीवित रहता था। .

12. Next day ……all of us. (Pages 10-11)

अगले दिन मैं खाने वाले कमरे में बैठा विचार कर रहा था कि मैं अपने माता-पिता की आज्ञा के बिना कोई फल लूं या न लूँ कि अचानक एक लंबी, काली चीज खिड़की से आई और सारे केले लेकर गायब हो गई। मैं बहुत डर गया क्योंकि मैंने साँपों को केले खाते कभी नहीं देखा था और मैंने सोचा कि यह कोई बहुत ही खतरनाक साँप होगा जो चुपचाप अंदर आकर फल ले गया। मैं कमरे से बाहर चुपचाप निकला और डर के मारे घर से बाहर दौड़ा। मुझे विश्वास था कि साँप वापिस घर आएगा, और सारे फल खाकर हम सब को मार देगा।

13. As I went……. the thief. (Pages 11-12)

जैसे ही मैं बाहर गया, मैंने कारी की पीठ को मंडप की दिशा में गायब होते देखा। मैं इतना डर गया था कि मुझे हौंसला दिलाने के लिए उसके साथ की जरूरत थी। मैं उसके पीछे मंडप में भाग कर गया और उसे वहाँ केले खाते पाया। मैं हक्का-बक्का खड़ा रहा; केले चारों तरफ फैले पड़े थे। उसने अपनी सूंड आगे बढ़ाई और मेरी तरफ फैलाई जहाँ मैं खड़ा था। उस समय लँड एक काले साँप की तरह लग रही थी, और मैंने महसूस किया कि कारी ही चोर था।

14. I went…….. ……..thank them. (Page 12)

मैं उसकी ओर गया, उसे कान से पकड़कर खुशी-खुशी अपने माता-पिता को दिखाया कि वह कारी था न कि मैं जो इतने सप्ताह से सारे फल खा रहा था। तब मैंने उसे डाँटा क्योंकि हाथी भी बच्चों की तरह शब्द समझते हैं, और मैंने कहा, “अगली बार मैं तुम्हें अगर फल चुराते देलूँगा तो चाबुक से मारूँगा।” उसे मालूम था कि हम सब उससे नाराज़ थे यहाँ तक कि नौकर भी। उसके सम्मान को इतनी ठेस पहुंची कि उसने फिर खाने के कमरे से कभी कुछ न चुराया। उसके बाद फिर कभी कोई उसे कोई भी फल देता था तो वह इस तरह किकियाता जैसे धन्यवाद देने की कोशिश कर रहा हो।

15. An elephant ….. ……………………own coin. (Page 12)

हाथी अपनी गलती के लिए सजा सहने को तैयार रहता है, पर अगर तुम उसे बिना कारण के सजा दो तो वह उसका जवाब भी उसी प्रकार देगा।

Part – III

Kari is a … ……….no exception. (Page 12)

  • कारी बहुत तेजी से सीखता है।
  • वह उन संकेतों और आवाजों को जो भी उसे सिखाये जाते हैं, उन पर पूर्ण ज्ञान प्राप्त करने का प्रयत्न करता है।
  • एक पाठ ऐसा है जिसे हाथी सीखने में पाँच वर्ष लगाता है, कारी इसका अपवाद नहीं है।

16. An elephant must …….. ………….to walk. (Page 12)

हाथी को सिखाना पड़ता है कि वह कब बैठे, कब चले, कब तेज दौड़े और कब धीरे चले। आप उसे ऐसी बातें एक बच्चे की तरह सिखाते हो। अगर तुम कहो ‘धत’ और उसे कान से पकड़ कर खींचो तो वह धीरे-धीरे बैठना सीख जाएगा। इसी प्रकार अगर आप कहो ‘माली’ और आगे से उसकी लँड खींचो तो उसे धीरे-धीरे चलने का संकेत मिल जाएगा।

17. Kari learned ………………..the time? (Pages 12-13)

कारी तीन पाठों के बाद ‘माली’ सीख पाया, पर उसे ‘धत’ सीखने में तीन सप्ताह लगे। वह बैठने में निपुण नहीं था। और आपको मालूम है कि हाथी को बैठना क्यों सिखाना चाहिए? क्योंकि वह उसकी देखभाल करने वाले से लंबा होता रहता है और जब वह दो-तीन वर्ष का हो जाएगा तो आप उसकी पीठ तक सीढ़ी से ही पहुँच पाओगे। इसीलिए उसे ‘धत’ कह कर बैठना सिखाना अच्छा रहेगा क्योंकि तभी आप उसकी पीठ पर बैठ सकते हो क्योंकि हमेशा सीढ़ी साथ लिए कौन चलेगा?

18. The most ……..master call. (Page 13)

सब से मुश्किल चीज जो हाथी को सिखानी होती है वह है “मास्टर की आवाज”। उसको यह अच्छी तरह सीखने में पाँच वर्ष लगते हैं। मास्टर की आवाज अजीब सी फुफकार, चीत्कार की आवाज है, जैसे कि साँप और चीता एक-दूसरे से लड़ रहे हैं और आपको उस तरह की आवाज उसके कान में करनी होती है। और आप किस बात की अपेक्षा करते हो कि हाथी क्या करेगा जब उसे मास्टर की आवाज बुलाए?

19. If you are ….. ………………animals away. (Page 13)

अगर आप जंगल में खो जाते हैं और आपको बाहर का रास्ता न आता हो सिवाये ऊपर तारों के बाकी सब तरफ अँधेरा लगता हो, तो आप कहीं भी अधिक देर रुकने का दुःसाहस नहीं करते। उस समय आपको सिर्फ मास्टर की आवाज में बुलाना चाहिए और एकदम हाथी अपनी सूंड से अपने सामने वाले पेड़ को नीचे गिरा देता है। इससे सब जानवर दूर चले जाते हैं।

20.As the tree…. ….. your house. (Pages 13-14)

जैसे ही पेड़ धमाके से धराशायी होता है, बंदर अपनी नींद से जाग जाते हैं और एक डाल से दूसरी डाल तक दौड़ते हैंआप उन्हें चन्द्रमा की रोशनी में देख सकते हो-और आप नीचे बारहसिंगा को हर दिशा में दौड़ते देख सकते हो। आप कुछ दूरी पर बाघ का दहाड़ना सुन सकते हो। वह भी डर जाता है। तब हाथी एक पेड़ के बाद दूसरा और फिर अगला पेड़ गिराता हुआ आपके घर तक पहुँच जाता है। जल्दी ही आप देखोगे कि उसने जंगल से सीधे आपके घर तक सड़क बना ली है।

The Complete Educational Website

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *