NCERT Solutions for Class 7 English Honeycomb Chapter 4 The Ashes that Made Trees Bloom

NCERT Solutions for Class 7 English Honeycomb Chapter 4 The Ashes that Made Trees Bloom

Click here to get access to the best NCERT Solutions for Class 7 English. Each and every question of NCERT Solutions for Class 7 English Honeycomb Chapter 4 The Ashes that Made Trees Bloom has been answered with easy to download solutions in PDF format.

The Ashes that Made Trees Bloom NCERT Solutions for Class 7 English Honeycomb Chapter 4

The Ashes that Made Trees Bloom NCERT Text Book Questions and Answers

The Ashes that Made Trees Bloom Comprehension check (Page-60)

Question 1.
Why did the neighours kill the dog ?
Answer:
The dog did not guide the neighbours to the treasure. So they killed the dog in extreme anger.

Question 2.
Mark the right item
(i) The old farmer and his wife loved the dog
(a) because it helped them in their day-to-day work.
(b) as if it was their own baby.
(c) as they were kind to all living beings.

(ii) When the old couple became rich, they
(a) gave the dog better food.
(b) invited their greedy neighbours to a feast.
(c) lived comfortably and were generous towards their poor neighbours.

(iii) The greedy couple borrowed the mill and the mortar to make
(a) rice pastry and bean sauce.
(b) magic ash to win rewards.
(c) a pile of gold.
(i) The old farmer and his wife loved the dog as if it was their own baby.
(ii) When the old couple became rich, they lived comfortably and were generous towards their poor neighbours.
(iii) The greedy couple borrowed the mill and the mortar to make a pile of gold.

The Ashes that Made Trees Bloom Working with the text (Page-63)

Answer the following questions :

Question 1.
The old farmer is a kind person. What evidence of his kindness do you find in the first two paragraphs.
Answer:
The old farmer is a kind person. He has a pet dog. Having no children, he loves it as if it were his own son. The old couple used to feed him with titbits of fish from their own
chopsticks.

Question 2.
What did the dog do to lead the farmer to the hidden gold ?
Answer:
The dog tried to take him to some spot. He kept on running for some minutes. The old man followed his pet dog. At one place, the dog started scratching the earth. The old man dug the earth and found a pile of gold gleaming before him.

Question 3.
(i) How did the spirit of the dog help the farmer first? ..
Answer:
The dog’s spirit asked his master to cut down the pine tree over his grave to make mortar for his rice pastry and a mill for bean sauce. The old couple made the dough ready for baking. As soon as he started pouring it, it turned into a heap of gold coins.

(ii) How did it help him next ?
Answer:
The dog’s spirit told his master how the wicked neighbours had burned the mill made from the pine tree. He suggested him to take the ash and sprinkle it on the withered trees. It would make them bloom.

Question 4.
Why did the daimio reward the farmer but punish his neighbour for the same act ?
Answer:
The old farmer scattered a pinch of ashes over the tree. It burst into blossom. The daimio was pleased to see and ordered some reward of silk clothes, cake etc to the farmer. But on the other hand the greedy neighbour sprinkled handful of ashes, the wind blew it and straight went into the eyes of the daimios and his wife. He got angry. He ordered to punish the wicked man to death.

The Ashes that Made Trees Bloom Working with language (Page – 64)

Question 1.
Read the following conversation.

Ravi : What are you doing?
Mridu : I’m reading a book.
Ravi : Who wrote it?
Mridu : Ruskin Bond.
Ravi : Where did you find it?
Mridu : In the library.
Notice that ‘what’, ‘who’, ‘where’, are question words. Questions that require information begin with question words. Some other question words are ‘when’, ‘why’, ‘where’, ‘which’ and ‘how’.

Remember that

  • What asks about actions, things, etc.
  • Who asks about people.
  • Which asks about people or things.
  • Where asks about place.
  • When asks about time.
  • Why asks about reason or purpose.
  • How asks about means, manner or degree.
  • Whose asks about possessions.

Read the following paragraph and frame questions on the italicised phrases.

Anil is in school. I am in school too. Anil is sitting in the left row. He is reading a book. Anil’s friend is sitting in the second row. He is sharpening his pencil. The teacher is writing on the blackboard. Children are writing in their copybooks. Some children are looking out of the window.
Answer:
(i) Where is Anil ?
(ii) Where is Anil sitting ?
(iii) What is he doing?
(iv) Where is Anil’s friend sitting ?
(v) What is Anil’s friend doing ?
(vi) Who is writing on the black board ?
(vii) What are some children doing ?

Question 2.
Write appropriate question words in the blank spaces in the following dialogue.
NEHA : ……………… did you get this book ?
SHEELA : Yesterday morning.
NEHA :………….. is your sister crying ?
SHEELA : Because she has lost her doll.
NEHA : ….. room is this, yours or hers ?
SHEELA : It’s ours.
NETA : . ……………. do you go to school ?
SHEELA : We walk to school. It is nearby.
Answer:
When, Why, Whose, How

Question 3.
Fill in the blanks with the words given in the box.

how ,what ,when ,where ,which

(i) My friend lost his chemistry book. Now he doesn’t know……………. to do and …………to look for it.
(ii) There are so many toys in the shops. Neena can’t decide …………. one to buy.
(iii) You don’t know the way to my school. Ask the policeman ……………. to get there.
(iv) You should decide soon ………………… to start building your house.
(v) Do you know …………… to ride a bicycle ? I don’t remember ………….. and I learnt it.
(vi) “You should know ………………. to talk and ……………… to keep your mouth shut,” the teacher advised Anil.
Answer:
(i) what, where
(ii) which
(iii) how
(iv) when
(v) how, when, how.
(vi) where, when

Question 4.
Add im- or in- to each of the following words and use them in place of the italicised words in the sentences given below. patient proper possible sensitive competent
(i) The project appears very difficult at first sight but it can be completed if we work very hard.
(ii) He lacks competence. That’s why he can’t keep any job for more than a year.
(iii) “Don’t lose patience. Your letter will come one day,” the postman told me.
(iv) That’s not a proper remark to make under the circumstances.
(v) He appears to be without sensitivity. In fact, he is very emotional.
Answer:
(i) The project appears impossible at first sight …..
(ii) He is incompetent. That’s why…..
(iii) “Don’t be impatient. Your letter…
(iv) That’s an improper remark to make …………
(v) He appears to be insensitive. In fact.. …………….

Question 5.
Read the following sentences:
It was a cold morning and stars still glowed in the sky. An old man was walking
along the road. The words in italics are articles. ‘A’ and ‘an’ are indefinite articles and ‘the’ is the definite article. ‘A’ is used before a singular countable noun. ‘An’is used before a word that begins with a vowel.

  • a boy
  • an actor
  • a mango
  • an apple
  • a university

an hour Use a, an or the in the blanks.

There was once ………….. play which became very successful. ………….. famous actor was. acting in it. In ………….. play his role was that of ………….. aristocrat who had been imprisoned in ………….. castle for twenty years. In ………….. last act of ………….. play someone would come on ………….. stage with ………….. letter which he would hand over to ………….. prisoner. Even though ………….. aristocrat was not expected to read ………….. letter at each performance, he always insisted that ………….. letter be written out from
beginning to end.
Answer:
a, A, the, an, a the, the, the, a, a, the, the, the.

Question 6.
Encircle the correct article.
Nina was looking for (a / the) job. After many interviews she got (a / the) job she was looking for.

A: Would you like (a / an/ the) apple or (a / an / the) banana ?
B : I’d like (a / an / the) apple, please.
A: Take (a / an / the) red one in (a / an / the) fruit bowl.
You may take (a / an / the) orange also, if you like.
B : Which one?
A : (A / An / The) one beside (a / an / the) banana.
Answer:
A: an, a
B : an A: the, the, an
A : The, the.

The Ashes that Made Trees Bloom Speaking and writing (Page – 67)

Question 1.
Do you remember an anecdote or a story about a greedy or jealous person and the unhappy result of his/her action ? Narrate the story to others in your class. Here is one for you to read.
Seeing an old man planting a fig tree, the king asked why he was doing this. The man replied that he might live to eat the fruit, and, even if he did not, his son would enjoy the figs.
“Well,” said the king, “if you do live to eat the fruit of this tree, please let me know.” The man promised to do so, and sure enough, before too long, the tree grew and bore fruit.
Packing some fine figs in a basket, the old man set out for the palace to meet the king.
The king accepted the gift and gave orders that the old man’s basket be filled with gold.
Now, next door to the old man, there lived a greedy old man jealous of his neighbour’s good fortune. He also packed some figs in a basket and took them to the palace in the hope of getting gold.
The king, on learning the man’s motive, ordered him to stand in the compound and had him pelted with figs. The old man returned home and told his wife the sad story. She consoled him by saying, “You should be thankful that our neighbour did not grow coconuts.”
Answer:
The students must read the above story thoroughly. As you know, greed is a curse. It will provide nothing but a shame. The unhappy result may create something negative in one’s behaviour. Don’t be jealous to others.

Question 2.
Put each of the following in the correct order. Then use them appropriately to fill the blanks in the paragraph that follows. Use correct punctuation marks.

  • English and Hindi/both/in/he writes
  • and only a few short stories/many books in English/ in Hindi
  • is/my Hindi/than my English/much better

Ravi Kant is a writer, and ……..
…………… Of course, he is much happier writing in English than in Hindi. He has written
I find his books a little hard to understand………………..
Answer:
Ravi Kant is a writer, and he writes both in English and Hindi. Of course, he is much happier writing in English than in Hindi: He has written many books in English and only a few short stories in Hindi. I find his books a little hard to understand. My Hindi is much better than my English.

Question 3.
Are you fond of reading stories ? Did you read one last month? If not, read one or two and then write a paragraph about the story. Use the following hints.

  • title of the story
  • name of author
  • how many characters
  • which one you liked
  • some details of the story
  • main point(s) as you understand it

Tell your friends why they should also read it.
Answer:
Read some story book yourself and describe the story you read in short by using the hints given above. Of course, I am fond of reading.

The Ashes that Made Trees Bloom Introduction

The story highlights the time of 19th century Japan where an old couple was so pathetic for the others proving an example. However, their neighbours were troublesome. The old couple had a pet dog who dies a sad death one day. But the spirit of the dog gives solace and support to his master in unexpected ways. The greedy neighbours pay the price of their greed and beaten to death.

The Ashes that Made Trees Bloom Word Notes

NCERT Solutions for Class 7 English Honeycomb Chapter 4 The Ashes that Made Trees Bloom 1
NCERT Solutions for Class 7 English Honeycomb Chapter 4 The Ashes that Made Trees Bloom 2

The Ashes that Made Trees Bloom Complete hindi translation

This is ……… ……… ways. (Page 55)

यह कहानी एक ईमानदार तथा परिश्रमी वृद्ध दम्पत्ति व उनके पालतू कुत्ते की है। पड़ौसी झगड़ालू हैं, और कुत्ता एक आकस्मिक उदास मौत मर जाता है। कुत्ते की आत्मा अनायास तरीकों में अपने मालिक को शांति एवम् सहायता प्रदान करता है।

Part-I

1. In the ……. …. birds. (Pages 55-56)

डाइमियास के पुराने अच्छे दिनों में, एक वृद्ध दम्पत्ति रहता था जिनका केवल एक पालतू कुत्ता था। अपनी कोई औलाद न होने के कारण वे उसे अपने बच्चे की भांति प्यार करते थे। बूढ़ी औरत ने उसके लिए एक नीली गद्दी बनाई हुई थी जिस पर भोजन के समय मूको-जो उसका नाम था–उस पर एक बिल्ली की भांति बैठ जाता था। वे दयालु लोग उसे अपनी चोपस्टिक से मछली के टुकड़े और जितने चावल वह खा सकता था, वे खिलाते। इस व्यवहार के कारण, वह गूंगा जानवर अपने रक्षकों को अपनी आत्मा से चाहता था।

बूढ़ा व्यक्ति जो चावल उगाने वाला किसान था, वह अपने फावड़े के साथ अपने खेतों को जाता था, सख्त मेहनत करता-सुबह से सूर्य टलने तक। प्रतिदिन कुत्ता काम पर उसके पीछे-पीछे जाता बिना किसी सफेद बगुले को नुकसान पहुँचाये, जो किसान के पैरों के निशानों पर चलकर कीड़े मकौड़े ढूढ़ते थे। वह बूढ़ा व्यक्ति बेहद दयावान था और हर प्राणी के साथ दयाभाव रखता था। वह पक्षियों को दाना खिलाने के लिए धरती को उलट पलट कर देता था।

2. One day…… ………………him. (Page 56)

एक दिन कुत्ता उसकी ओर दौड़ता हुआ आया, अपने पंजे उसकी टांगों के बीच में रखते हुए उसने अपने सिर से पीछे की ओर इशारा किया। बूढ़े व्यक्ति ने सोचा कि उसका पालतू जानवर सिर्फ खेल रहा है, अतः उसने ध्यान नहीं दिया। पर कुत्ता कुछ पलों के लिए कराहता रहा तथा यहाँ वहाँ दौड़ता रहा। तब बूढ़े व्यक्ति ने उसके कदमों का पीछा किया जहाँ पर वह कुत्ता जमीन कुरेदने लगा। उसने सोचा कि शायद कोई हड्डी अथवा मछली का टुकड़ा होगा, पर अपने पालतू जानवर को खुश करने के लिए उसने धरती को फावड़े से खोदा। लो! उसके सामने सोने का ढेर चमक रहा था।

3. Thus in an hour …. ……………. beneath. (Page 57)

इस प्रकार वृद्ध दम्पत्ति एक घंटे में अमीर हो गये। उन अच्छे लोगों ने जमीन का एक टुकड़ा खरीदा और अपने दोस्तों को दावत दी और अपने गरीब पड़ोसियों को बहुत सा दान दिया। जहाँ तक कुत्ते की बात थी, उन्होंने कुत्ते को अपनी दयालुता से ढक लिया। उसी गाँव में एक दुष्ट बूढ़ा व्यक्ति अपनी पत्नी के साथ रहता था, जो न समझदार था न दयालु, और हमेशा सभी कुत्तों को लात मारता, फटकारता जो भी उनके घर के पास आते-जाते थे।

अपने पड़ोसियों की अच्छी किस्मत के बारे में सुनकर, उन्होंने उनके कुत्ते को बहलाकर अपने बगीचे में बुला लिया और उसके सामने मछली के टुकड़े और अन्य स्वादिष्ट चीजें रखीं, इस आशा के साथ कि वह उन्हें भी खजाने का पता बताएगा। परंतु उनसे डरते हुए कुत्ते ने न तो खाया और न ही हिला। फिर वे उसे खींचकर घर के बाहर ले गए और फावड़ा लेकर उसके पीछे-पीछे हो लिए। जल्द ही कुत्ते ने बगीचे में एक खजूर के पेड़ के नीचे खोदना शुरू किया मानो कोई बेशकीमती खजाना उसके नीचे गढ़ा हो।

4. “Quick, wife…. ……….alive. (Pages 57-58)

“शीघ्रता करो, प्रिय। मुझे फावड़ा दो!” लालची बूढ़े मूर्ख ने प्रसन्नता से नाचते हुए कहा। फिर उस लालची बूढ़े ने फावड़े से और बूढ़ी औरत ने कुदाल से खोदना शुरू किया; परन्तु वहाँ पर कुछ नहीं था सिवाय एक बिल्ली के मरे हुए बच्चे थे जिसकी दुर्गध के कारण उन्होंने अपनी नाक बन्द कर ली। कुत्ते पर गुस्से के कारण, बूढ़े आदमी ने उसे लात मारी और पीट-पीट कर मार डाला, और बूढ़ी औरत ने उसका सिर कुदाल से काटकर उसका कार्य समाप्त कर दिया। उन्होंने फिर उसे एक गड्ढे में डालकर उसके शरीर पर मिट्टी डाल दी।

कुत्ते के मालिक को जब उसके पालतू कुत्ते की मौत के बारे में पता चला, तो वह उसके लिए, अपने बच्चे की भांति शोकाकुल होकर, रात को उस खजूर के वृक्ष के नीचे गया। उसने बांस की कुछ लकड़ियाँ धरती पर इकट्ठा की, जैसे मकबरे के सामने करते हैं और उस पर ताजे सफेद फूल चढ़ा दिये। फिर उसने एक कप पानी और एक प्लेट भोजन उसकी कब्र पर रखा और कुछ महंगी अगरबत्तियाँ जलाईं। वह बहुत देर तक अपने पालतू कुत्ते के दुख में शोक व्यक्त करता रहा और उसे भिन्न-भिन्न प्यार के नामों से पुकारता रहा, जैसे कि वह अभी भी जीवित हो।

5. That night………. (Pages 58-59)

उस रात कुत्ते की आत्मा उसके सपने में आई और बोली, “मेरी कब्र के ऊपर वाले खजूर के पेड़ को काट दो और अपने चावल पीसने के लिए ओखल तथा फलियों की चटनी के लिए चक्की बना लो।” अतः बूढ़े व्यक्ति ने पेड़ को काट डाला और पेड़ के तने के बीच से दो फुट लम्बा हिस्सा काटा। काफी परिश्रम करके, कुछ जलाकर, कुछ छीलकर उसने एक छोटे से कटोरे जितनी खाली जगह बनाई। फिर उसने लम्बे हत्थे वाला एक हथौड़ा बनाया; जिसे वह चावल पीसने के लिए प्रयोग कर सकता था।

जब नया वर्ष नजदीक आया, उसके मन में चावल की पेस्ट्री बनाने को आया। जब चावल उबल गये, बुढ़िया ने उन्हें ओखल में डाला, बूढ़े व्यक्ति ने उन्हें कूटकर आटा बनाने के लिए हथौड़ा उठाया और तेजगति से तब तक मारता रहा जब तक पेस्ट्री सेंकने के लिए तैयार नहीं हुई। अचानक सारा ढेर सोने के सिक्कों में बदल गया। जब बूढ़ी औरत ने हाथ-चक्की उठाई और फलियों की चटनी पीसने के लिए भरी, सोना वर्षा की तरह गिरने लगा।

6. Meanwhile…. …………firewood. (Page 59)

उस दौरान ईर्ष्यालु पड़ोसी खिड़की से झाँक रहे थे जब उसने उबली हुई फलियाँ पीसने के लिए डालीं। “हे ईश्वर!” बुढ़िया चिल्लायी, जैसे ही उसने चटनी की प्रत्येक बूंद को पीले सोने में तब तक बदलते देखा जब तक कुछ क्षणों में चक्की का बर्तन सोने से नहीं भर गया। अतः वृद्ध दम्पत्ति फिर अमीर हो गया। अगले दिन कंजूस व धूर्त पड़ौसी बहुत सारी फलियाँ लेकर आया और ओखल व जादुई उधार माँगी। उन्होंने एक को उबले चावल से तथा दूसरी को फलियों से भर दिया। फिर वह बूढ़ा आदमी कूटने लगा और वह औरत पीसने लगी। परंतु पहली चोट के बाद पेस्ट्री और चटनी एक बदबूदार कीड़ों के ढेर में परिवर्तित हो गए। और अधिक नाराज होकर, उन्होंने उस चक्की को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट दिया ताकि ईंधन के प्रयोग में लाया जाए।

Part-II

7. Not long ………. ……………pieces. (Page 60)

कुछ समय बाद ही अच्छे बूढ़े व्यक्ति ने फिर सपना देखा, और कुत्ते की आत्मा उससे बोली कि किस प्रकार उन धूर्त लोगों ने खजूर के पेड़ से बनी चक्की को जला दिया। “चक्की की राख को ले आओ, उसे मुरझाए हुए पेड़ों पर छिड़क दो, और वे फिर से खिल जाएँगे,” कुत्ते की आत्मा ने कहा। बूढ़ा व्यक्ति उठा और उसी समय धूर्त पड़ोसियों के घर गया, जहाँ उसने देखा कि वह दुखी बूढ़ा जोड़ा आग जलाने वाले एक चौरस स्थल के किनारे बैठे हुक्का पी रहे हैं और चरखा कात रहे थे। समय-समय पर वे उस चक्की की आग से अपने हाथ और पैर सेंक रहे थे, जबकि उनके पीछे टूटे हुए टुकड़ों को ढ़ेर पड़ा था।

8. The good …………………………….blossom. (Page 61)

अच्छे बूढ़े व्यक्ति ने विनम्रतापूर्वक राख मांगी। यद्यपि उस लालची जोड़े ने अपनी नाक-भौं सिकोड़ी और उसे इस प्रकार फटकारा कि मानो वह कोई चोर हो, परन्तु उन्होंने उसे एक टोकरी भर राख ले जाने दी। घर वापिस लौटने पर, बूढ़े व्यक्ति ने अपने पत्नी को साथ लिया और बगीचे में आ गया। सर्दी होने के कारण उनका पसंदीदा चेरी का पेड़ मुरझा गया था। उसने चुटकी भर राख उस पर छिड़की और वह एकाएक खिल उठा, जब तक गुलाबी कलियों का सुगंध भरा बादल न बन गया हो। इस बात की खबर सारे गाँव में फैल गई और सभी इस चमत्कार को देखने दौड़ पड़े। लालची वृद्ध जोड़े ने जब यह सुना तो बाकी बची राख इकट्ठी करके मुरझाये पेड़ों को पुनः खिल जाने के लिए रख ली।

9. The kind .. ………….wayside. (Pages 61-62)

दयालु वृद्ध दम्पत्ति ने जब यह सुना कि उनका राजा, द डाइमियो गाँव की मुख्य सड़क से गुजरने वाला था, उसे देखने के लिए अपनी राख की टोकरी लेकर चल पड़ा। जैसे ही गाड़ी पहुँची, वह एक बूढ़े मुरझाये हुए चैरी के पेड़ पर चढ़ गया जो सड़क के किनारे खड़ा था। 10.

10. Now, in…….. ….blossom. (Page 62)

डाइमियोस के दिनों में यह नीति थी कि जब भी राजा वहाँ से गुजरता था तो लोग अपनी दूसरी मंजिल की खिड़कियाँ बन्द कर देते थे। यहाँ तक कि खिड़कियों को कागज के टुकड़े भी चिपका देते थे ताकि वह राजा को देखने की अशिष्टता न कर बैठें। सभी लोग सड़क पर साष्टांग दंडवत की स्थिति में तब तक रहते जब तक कारवां गुजर नहीं जाता था। . गाड़ी पास आई।

एक लम्बा व्यक्ति कदम मिलाते हुए आगे बढ़ा। वह रास्ते पर चीखते हुए बढ़ रहा था। “घुटनों के बल बैठ जाओ। घुटनों के बल बैठ जाओ।” और जुलूस के निकलते समय सभी झुक गये।। – एकाएक वैन के नेता की दृष्टि पेड़ पर चढ़े बूढ़े व्यक्ति पर पड़ी। वह उसे क्रोधपूर्वक बुलाने ही वाला था, जब उसने देखा कि वह इतना बूढ़ा था, उसने ऐसा दिखाया कि उसने उसकी तरफ ध्यान नहीं दिया था। और वह वहाँ से निकल गया जब डाइमियोस की पालकी नजदीक आई तो बूढ़े व्यक्ति ने चुटकी भर राख टोकरी से निकालकर पेड़ पर यहाँ वहाँ गिरा दी। क्षणभर में ही पेड़ पूरी तरह खिल उठा था।

11. The delighted …. …… old wife. (Page 62)

प्रसन्नचित्त राजा ने गाड़ी को रुकवाने का आदेश दिया और उस चमत्कार को देखने बाहर आया। बूढ़े व्यक्ति को अपने पास बुलाते हुए उसने उसको धन्यवाद और उसे रेशमी कपड़ों, केक, पंखे और अन्य पुरस्कार प्रदान करने का आदेश दिया। उसने उसे अपने किले पर आने को भी आमंत्रित किया। अतः बूढ़ा व्यक्ति खुशी-खुशी अपनी प्रसन्नता अपनी पत्नी से बाँटने घर पहुंचा।

12. But when.. ……………. age. (Page 63)

परंतु जब उस लालची पड़ौसी ने यह सुना तो उसने कुछ जादुई राख लो और मुख्य मार्ग की ओर चल पड़ा। उसने वहाँ राजा की गाड़ी के आने की प्रतीक्षा की और, भीड़ की तरह घुटने के बल न बैठकर, वह एक मुरझाये चेरी के पेड़ पर चढ़ गया। जब डाइमियोस विल्कल उसके नीचे पहँचा उसने मट्ठी भर राख पेड़ पर फैकी जिसने एक भी कण में परिवर्तन नहीं किया। हवा से उड़कर राख डाइमियोस तथा उसकी पत्नी के नाक व आंखों में घुस गई। छीकें और गला रुंध गया।

उसने जुलूस की शान और मान खराब कर दी थी। वह व्यक्ति जिसका काम ‘घुटनों के बल बैठ जाओ’ चिल्लाना था, बूढ़े मूर्ख को कॉलर से पकड़कर, पेड़ से नीचे उतारा, खींचते हुए और उस की राख की टोकरी को सड़क किनारे एक गड्ढे में डाल दिया। तब, उसे बुरी तरह पीटते हुए, उसने उसे अधमरा करके छोड़ दिया। इस प्रकार धूर्त बूढ़ा व्यक्ति कीचड़ में ही मर गया, परंतु कुत्ते के दयालु मित्र को शांति तथा समृद्धि प्राप्त हुई, और दोनों वह और उसकी पत्नी लम्बी आयु तक खुशी-खुशी जीते रहे।

The Complete Educational Website

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *