NCERT Solutions for Class 8 English It So Happened Chapter 10 The Comet 2

NCERT Solutions for Class 8 English It So Happened Chapter 10 The Comet 2

Click here to get access to the best NCERT Solutions for Class 8 English. Each and every question of NCERT Solutions for Class 8 English It So Happened Chapter 10 The Comet 2 has been answered with easy to download solutions in PDF format.

The Comet 2 NCERT Solutions for Class 8 English It So Happened Chapter 10

The Comet 2 NCERT Text Book Questions and Answers

The Comet 2 Comprehension check (Page 83)

Question 1.
“For a moment James wondered if he had done his sums right.” Why was James doubtful about his sums and calculations ?
Answer:
Based on his calculations, James Forsyth had predicted that Comet Dutta would collide with the earth within ten months. Sir John made him realise about the panic his prediction would create throughout the world. After reaching his hotel room, he looked up from his window. He saw a star-studded night sky. He felt that it was difficult to calculate exactly the impending calamity in advance. That is why he grew doubtful about his sums and calculations.

Question 2.
What did the scientists at the conference say about James’s sums ?
Answer:
Many experts and scientists from all over the world had attended the conference. They checked and rechecked James’ calculations with the latest observations of Comet Dutta. They found his sums right. There was no escape from direct hit of the Comet with the earth. However, there can be partial loss to life and property if the Comet grazes the atmosphere of the earth.

Question 3.
Immediate action was needed, the scientists decided. Give one example each of ‘defensive’ and ‘offensive’ action mentioned in the text.
Answer:
It was decided by the scientists that immediate action was needed. The ‘defensive’ measure was to dig underground bunkers and live in them. The ‘offensive’ measure was to deflect the Comet from its path by giving it a push. It could be achieved by a well-timed and directed gigantic nuclear explosion through remote control.

Question 4.
“I am not buying any Christmas presents till December 15th.” What did Sir John mean by that ?
Answer:
Duttada asked Sir John if he thought they would succeed in their efforts to avert the tragedy of the collision of Comet Dutta with earth. Sir John was not seemed to be sure. That is why he said that he was not going to buy any christmas presents till December 15. Fifteenth of December. It was the day when the Comet was expected to strike with the earth.

The Comet 2 Comprehension check (Page-87)

Question 1.
What is Duttada expected to do on his return from London?
Answer:
Duttada’s wife Indrani Debi wished to pacify the evil spirit behind the Comet seen by her husband. So, she had arranged a ‘yajna’ to be performed by Guruji at their home. It was arranged so that the Comet may not cause any ill effect on earth. So, on his return from London, Duttada is expected to participate in this ‘yajna’.

Question 2.
What is the reaction to the proposal ?
Answer:
Duttada had a rational and a scientific mind. He knew that yajna had not scientific advantage in the age of science. The movements of Comets were forecast precisely by mathmetical calculations. Their visits had no corelation with disasters on the earth. That is why he refused to be a part of the ‘yajna’ in any way.

Question 3.
(i) What does ‘Project Light Brigade’ refer to ?
(ii) What does Sir John say about the Project in his letter to Duttada in October ?
Answer:
(i) ‘Project Light Brigade’ refers to a highly secret astronomical operation. It was chalked out by the top experts and scientists of the world. Sir John Macpherson, the Defence Science Advisor to the British Government was the main brain behind it. It was designed to avert the collision of Comet Dutta with the earth.

(ii) Sir John wrote to Duttada in his letter “The charge of the Light Brigade has begun. Let us hope for the best.” Thus he conveyed to Duttada that the spacecraft had been launched on time.

Question 4.
Did’ Sir John buy Christmas presents on December 15? How did Duttada get to know about it?
Answer:
Yes, Sir John bought Christmas presents on December 15. Duttada got an urgent telex message from the British Council. Its contents were ‘I am confident now of buying my Christmas presents on December 15th-John Macpherson. This is how Duttada came to know about it. It indicated that the operation Light Brigade was going to be successful.

Question 5.
Why, according to Indrani Debi, had the Comet not been disasterous ? Do you agree with her ?
Answer:
Indrani Debi believed that the disaster was averted because of the ‘yajna’ being performed at their house. She told Duttada that there could be some major disaster on earth. So, she gave all the credit to the Yajna.’ I do not agree with her because I am not superstitious like she.

Question 6.
Is Duttada’s general outlook
(i) rational ?
(ii) moral ?
(iii) traditional ?
Choose the right word. Say why you think it right.
Answer:
I think Duttada’s general outlook is ‘rational’. He has a scientific approach. Scientists
are rational in their approach to a problem. They have analytical mind. That is why Duttada is against all the superstitions and unnecessary rituals. He did not participate in the ‘yajna’ performed at his house.

The Comet 2 Exercise Questions and Answers

Discuss the following topics in small groups. Write your answers afterward.

Question 1.
Should a scientist’s findings be suppressed if they seem disturbing? Give reasons for and against the topic.
Answer:
FOR
Sometimes a scientific invention or discovery can be too dangerous to reveal. It can creat panic throughout the world. For instance, a scientist’s findings in the story, if revealed, could create the worldwide panic. If it was told to the people that a Comet was going to strike the earth, then the people of the whole world would have been disturbed. Then there would have been a total chaos. These people could not have done anything to avoid the disaster. Rather they would have worsened the situation. That is why I earnestly believe that if any scientific finding seem disturbing, it is better to wide their superb these from the general public.

AGAINST
I firmly believe that under no circumstances the truth should be suppressed. Therefore if a scientist’s findings seem to be disturbing even then these must be revealed to the world. This way the people of the world can try to find a solution unitedly. There have been many attempts to suppress or negate some scientific discoveries. Some scientists were punished also. But for the overall progress of humanity it is essential that truth should not be suppressed. The scientific discovery of earth being round was very much opposed initially. But now it is an established fact. Therefore I think under no circumstance a scientist’s findings should be suppressed.

Question 2.
Do you think ours is a traditional society ? What are some of the things we do to be called traditional ? Do you find these things useless or useful ?
Answer:
Despite a lot of scientific advancement, most of the people of our society are still tradition. Still they do many things or rituals based on old beliefs and superstitions. Their approach is not rational and scientific. In the world we find more people of the traditional views held by Mrs. Dutta in the story “The Comet. She believed that the Comet would bring ill-luck and disaster on the earth.

Therefore, she had arranged a Shanti yajna to pacify the evil spirits. As compared to it there are comparatively less people like Mr. Dutta who think logically, rationally and scientifically. I don’t agree with the traditional beliefs of Mrs. Dutta. In this age when science has been so much advanced, it is useless to have such beliefs.

Question 3.
Give two or three examples to show how science has been useful to us.
Answer:
There are many scientific inventions which have made our lives much more comfortable. For instance, the invention of electricity has proved to be very beneficial for the mankind. If now we are living in air-conditioned comforts and moving in cars, trains and aeroplanes it is all due to the advancement of science.

Question 4.
Give one example to show how science has been misused, and has a result been harmful to us.
Answer:
I think one example of science being misused is invention of atomic homb, which can destroy the world completely within minutes. Nuclear War can really be very dangerous.

The Comet 2 Introduction

Duttada is invited to the secret conference held at London. The top scientists and experts discussed how to change the course of Comet Dutta so that it would not strike earth. Duttada and Sir John became close friends. They decided to perform the Operation Light Brigade. Duttada returns home to a warm welcome. The mission is successful and the tragedy is averted.

The Comet 2 Word Notes Pages 81-83.

NCERT Solutions for Class 8 English It So Happened Chapter 10 The Comet 2

The Comet 2 Complete Hindi Translation

Part-I

Duttada is …………. a secret. (Page 81)

  • दत्तादा को गुप्त सभा में आमंत्रित किया गया।
  • वैज्ञानिकों का गुप्त कार्य विवरण था कॉमेट दत्ता का मार्ग किस तरह बदला जाए।
  • दत्तादा और रक्षा सलाहकार आपस में गहरे मित्र बन गए तथा रहस्य में साझीदार हो गए।

1. By the …………………. sums right. (Page 81)

जिस समय उन्होंने विचार-विमर्श समाप्त किया और सर जॉन ने उसे रीजेन्ट स्ट्रीट से उसके होटल तक छोड़ा तो रात का एक बज चुका था। सड़क पर भीड़ नहीं थी परंतु जब जेम्स ने अपनी खिड़की में से झाँका तो तारों भरी रात ने उसका अभिवादन किया। इन्हीं तारों में कहीं कामेट दत्ता था जो पृथ्वी से टकराने के लिए आगे बढ़ रहा था। ऐसी शांत रात्रि में उस भावी विनाश पर विश्वास करना कठिन था। एक क्षण के लिए जेम्स ने सोचा कि क्या उसने अपने सवाल ठीक हल किये थे। .

2. Whatever …………………. all-Manoj Dutta. (Page 81)

सर जॉन की कुशलता के विषय में जो भी संदेह जेम्स के मन में थे वे शीघ्र ही समाप्त हो गए जब वह कॉन्फ्रेंस में पहुँचा और देखा कि सभी विशेषज्ञ जिनकी सूची उसने बनाई थी वहाँ उपस्थित थे। खगोल शास्त्री, कम्प्यूटर वैज्ञानिक, आणविक भौतिकवेत्ता, अंतरिक्ष तकनीकीविद, जीव वैज्ञानिक सभी वहाँ उपस्थित थे। और सर जॉन के विशेष अतिथि के रूप में वह व्यक्ति भी उपस्थित था जिसने यह सब शुरू किया था-मनोज दत्ता।

3. The conference …….. ………. no action. (Pages 81-82)

कान्फ्रेस एक सप्ताह तक चली और पूर्णतया गुप्त रूप से चलती गई। पहले तो विशेषज्ञों ने जेम्स फोरसिथ की गणनाओं की कामेट दत्ता के ताजा अवलोकन से जाँच और पुनर्जाच की। वह ठीक था। उसके द्वारा की गई सीधी टक्कर की भविष्योक्ति से कोई बचाव नहीं था। एक मामूली संभावना थी कि कॉमैट पृथ्वी के बिल्कुल समीप से गुजर जाए और टकराए नहीं! उस दशा में जान माल की पूर्ण हानि नहीं होगी। परंतु यह थोड़ी सी राहत इतनी भरोसे वाली नहीं थी कि कोई कार्यवाही ही न की जाए।

4. Having decided .. …. it a push.( Page 82)

यह निश्चय करके कि कुछ कार्यवाही आवश्यक है, इसकी क्या रूपरेखा होनी चाहिए? विशेषज्ञों ने बचाव के साथ नों जैसे कि जमीन के नीचे बंकरों में रहने को नकार दिया। यह बिल्कुल एक व्यावहारिक हल नहीं था। इसलिए केवल आक्रामक कार्यवाही का रास्ता ही बचा था। कॉमेट दत्ता को थोड़ा धक्का देकर इसके पथ से विचलित किया जा सकता था।

5. The experts. ……… do the trick. (Page 82)

विशेपज्ञों ने हिसाव लगाया कि इस बड़े कार्य को सम्पन्न करने के लिए पृथ्वी पर उपलब्ध बड़ी मात्रा में विनाशकारी आणविक शक्ति की आवश्यकता पड़ेगी। एक सही स्थान से, सही समय पर, सही दिशा में किया गया बहुत बड़ा आणविक विस्फोट इस कार्य को कर सकता है।

6. This could. … dates in it were. (Page 82)

एक अन्तरिक्ष यान में आणविक सामग्री रखकर इसे आने वाले पुच्छल तारे के मार्ग में भेजकर रिमोट कन्ट्रोल से इसे उड़ा देने से ही ऐसा किया जा सकता था। सफलता मिले या असफलता, इसे गुप्त तो रखना ही होगा। अन्त में अभियान के लिए समय सारिणी बनाई गई। इसमें मुख्य तिथियाँ थीं।

7. October 10 …. ….. safe distance. (Page 82)

अक्टूबर 10 : विस्फोटक सामग्री सहित अन्तरिक्षयान को भेजना यदि तब तक पुच्छल तारा प्राकृतिक कारणों से स्वयं नष्ट नहीं हो जाता अथवा अनदेखे कारणों से वह अपना मार्ग नहीं बदल लेता।
नवम्बर 15 : पुच्छल तारे से मिलन और सामग्री का विस्फोट।
दिसम्बर 15 : यदि यह प्रयोग असफल हुआ तो उस दिन पुच्छलतारा पृथ्वी से टकरायेगा। यदि सफल हुआ तो पुच्छल तारा पृथ्वी के पास से सुरक्षित दूरी से निकल जायेगा।

8. The success of …. …….. each other. (Page 82)

प्रयोग की सफलता इस बात पर निर्भर थी कि पुच्छल तारा कितना बड़ा है। कोई भी अनुमान नहीं लगा सकता था; हर कोई आशा करता था कि बहुत बड़ा नहीं होगा।“आपका क्या विचार है कि हम सफल हो जायेंगे?” दत्ता ने सर जॉन मैक्फरसन से राय पूछी। सप्ताह भर में दोनों में बहुत सामीप्य हो गया था।

9. “Mr. Dutta, …………….. ……………… astronomers. (Page 83)

“मि. दत्ता मैं आप को ईमानदारी से उत्तर दूंगा! मैं 15 दिसम्बर तक कोई क्रिसमस उपहार नहीं खरीद रहा हूँ।” कॉन्फ्रेंस के पश्चात् दत्तादा ने दो सप्ताह तक ब्रिटिश द्वीपों का भ्रमण किया और वैधशालाओं को देखने तथा शौकिया और व्यावसायिक खगोलशास्त्रियों से विचार विनिमय में अच्छा समय बिताया।

10.On his …….. …………….. the waiting car. (Page 83)

वापिसी पर मित्रों, सामाजिक नेताओं, विद्यार्थियों और आगे-पीछे फिरने वालों की भीड़ ने उसका स्वागत किया। हारों से लदे हुए और पत्रकारों के प्रश्नों की बौछार में वह किसी तरह कार तक पहुँचे।

Part-II

Duttada …………… ………… puzzled. (Page 83)

  • दत्तादा भव्य स्वागत तथा एक अनुष्ठान के लिए घर पहुँचता है जो किसी वैज्ञानिक के लिए आनंददायक नहीं है।
  • एक गुप्त बात को सुनकर वह तेज गति से स्थानीय मिठाई की दुकान पर जाते हैं।
  • इन्द्रानी देबी कहती हैं कि उनके आठ वर्षीय पोते खोका ने संसार को बचा लिया है। उनके पति गंभीर रूप से परेशान हो जाते हैं।

11. Arriving ………meaningful rituals. (Page 83)

घर पहुँचने पर उन्होंने (दत्तादा ने) एक और भीड़ पंडाल के नीचे एकत्रित देखी। उन्होंने प्रश्नसूचक दृष्टि से इन्द्रानी की ओर देखा। निश्चय ही वह जानती थी कि उन्हें (दत्तादा को) भीड़ से कितनी घृणा थी। स्पष्ट है उद्विग्न होकर इन्द्रानी ने उत्तर दिया, “मैंने एक यज्ञ आयोजित किया है और पंडितों को आपको आशीर्वाद देने के लिए बुलाया है।” “परंतु क्यों? बस इसलिए कि मैं भारत से बाहर गया था? तुम जानती हो अब यह बुरा नहीं समझा जाता। और फिर तुम तो इन बेकार के रीतिरिवाजों पर मेरे विचार जानती हो।”

12. Indrani Debi…. ………… the yajna.” (Page 84)

इन्द्रानी देबी ने अपने पति के छोटे भाई शिबाजी बाबू की ओर देखा। शिबाजी बाबू ने खांसकर उत्तर दिया, “हम सभी तभी से चिन्तित हैं जब से आपने पुच्छल तारे की खोज की है। पुच्छल तारे के दुष्प्रभाव को कम करने के लिए गुरु जी ने एक शांति यज्ञ की सलाह दी है। हम सब यज्ञ को सम्पन्न करने के लिए आपकी प्रतीक्षा कर रहे हैं।”

13. May I……… ……… modern times. (Page 84)

“क्या मैं जान सकता हूँ कि इस समारोह से क्या विशेष लाभ होगा?” दत्तादा बाहर से शान्त थे। “जिस पुच्छल तारे की खोज आपने की है, उसका पृथ्वी पर कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ेगा।” इस कथन पर दत्तादा भड़क उठे, “क्या तुम नहीं जानते कि यह सब अन्धविश्वास है? प्राचीन काल में यह सब चल सकता था जब मनुष्य नहीं जानता था कि पुच्छल तारा क्या होता है। आधुनिक काल में ऐसा नहीं है।”

14. Comets are …… …………….. on science. (Page 84)

“पुच्छल तारों के विषय में अब सब विदित है, उनकी गति गणितीय गणना से बताई जा सकती और सांख्यिकीय अध्ययन से सिद्ध हो गया है कि उनका प्रकट होना पृथ्वी पर विनाश से सम्बन्धित नहीं है। मुझे यह सब बताना व्यर्थ लगता है–तुम और तुम्हारे जैसे लोग विज्ञान की प्राथमिक पुस्तकें भी नहीं पढ़ते।”

15. Sibaji babu… ……………… and efficiency. (Page 84)

शिबाजी बाबू ने नम्रता से टोकते हुए कहा, “परन्तु हमारे बुद्धिमान पूर्वजों ने ऐसे यज्ञों की सलाह दी है।” लन्दन से लौटने के बाद दत्तादा सर जॉन मैकफरसन से नियमित पत्र व्यवहार कर रहा था। एक दूसरे के गुणों की मान्यता से उनकी मित्रता बढ़ गई थी। सर जॉन ने दत्तादा के वैज्ञानिक दृष्टिकोण की सराहना की जबकि दत्तादा उनकी कुशलता और अनुशासन का प्रशंसक था।

16. Their ……. …… understand. (Page 84)

उनके पत्र-व्यवहार में प्रोजेक्ट लाइट ब्रिगेड का कभी जिक्र नहीं होता था, यद्यपि सर जॉन कभी-कभी इसकी प्रगति के विषय में इशारा कर देते थे जिसे दत्तादा समझ जाते थे।

17. Meanwhile. ……… much real. (Page 84)

इसी दौरान कॉमेट दत्ता अपने पूर्व घोषित पथ पर जा रहा था। कुछ ही समय में इसकी पूँछ विकसित हो गई थी। यह बिना टूटे (अलग हुए) सूर्य के गिर्द घूमने लगा, न ही यह वाष्पित हुआ। इसलिए प्रोजेक्ट लाइट ब्रिगेड के वैज्ञानिक जान गये कि अब टकराव का खतरा बिल्कुल वास्तविक है।

18. In the …… ……….. on time. (Pages 84-85)

अक्टूबर के मध्य में दत्तादा को सर जॉन का पत्र मिला जिसमें रॉयल एस्ट्रोनॉमिकल सोसाइटी की बैठक, बेमौसमी गर्मी, फुटबाल के हो रहे मौसमी मैचों और एक तात्कालिक उप-चुनाव के विवरणों के बीच दत्तादा को वह वाक्य मिल गया जिसके लिए वह उत्सुक थेः “लाइट ब्रिगेड ने आक्रमण कर दिया है। हमें आशा करनी चाहिए कि अत्युत्तम परिणाम होंगे”। अतः अन्तरिक्ष यान सही समय पर छोड़ दिया गया था।

19. But will it. … through Dibya. (Page 85)

लेकिन क्या इसका सही समय पर और ठीक जगह पर मिलन होगा? क्या रिमोट कन्ट्रोल विस्फोट करेगा? यदि बृहत आणविक सामग्री का ढेर न जला तो? दत्तादा अपनी चिन्ताओं को अपने आस-पास किसी के साथ नहीं बाँट सकते थे। उन्हें पूजा की रस्मों और दीवाली समारोहों व अन्य उत्सवों में भाग लेना और ऊपरी तौर पर आनन्दित होना पड़ता था। दिन में उनके लिए एक मात्र राहत उनके आठ साल के पोते खोका का संग था और रात दिव्या द्वारा देखने में गुजरती थी।

20. He was ………. …………… Machpherson.” (Page 85)

वह निरंतर, पुच्छल तारे का निरीक्षण कर रहे थे जो अब नंगी आँख से स्पष्ट दिखाई देता था। 18 नवम्बर को स्कूटर पर एक विशेष संदेशवाहक ब्रिटिश काउंसिल से एक आवश्यक समुद्री तार उनके लिए ले कर आया। कलकत्ता का टेलेक्स चालक (ऑपरेटर) हैरान था कि इसमें ऐसी क्या विशेषता थी कि इसे इतना अर्जेन्ट भेजा गया। लेकिन इसे पढ़कर दत्तादा की सारी सुस्ती भाग गई और वह शीघ्रता से अपनी प्रिय रसगुल्लों की दुकान पर गए। संदेश थाः “अब मैं 15 दिसम्बर को अपने क्रिसमस उपहार खरीदने के लिए आश्वस्त हूँ-जॉन मैकफरसन।”

21.On December 15 …… ……. to it. (Page 85)

15 दिसम्बर को कामेट दत्ता पृथ्वी के बहुत पास आ गया-कोई 80,000 किलोमीटर की दूरी पर। लाखों ने उसे देखा और सराहा। केवल कुछ ही लोग जानते थे कि वे पूर्ण सर्वनाश के कितने करीब पहुंच गए थे। जब कामेट बहुत दूर निकल गया और दिखाई देना बंद हो गया तो दत्तादा ने अपनी पत्नी से यह कहना सुरक्षित समझा, “अब जब कि कामेट आया और चला गया है, क्या तुम संतुष्ट हो कि कोई बड़ा संकट नहीं आया जो इसके कारण हुआ हो?”

22. “I agree .. ……….. quiet confidence. (Page 85)

“मैं मानती हूँ कि इससे कोई बड़ा अनिष्ट नहीं हुआ लेकिन हो तो सकता था। क्या तुम जानते हो इसे कैसे रोका गया है?” इन्द्रानी देबी ने विश्वासपूर्वक उत्तर दिया।

23. Duttada looked ……..with it. (Page 86)

दत्तादा ने उसकी ओर देखा। क्या वह जानती थी? वह कैसे जान सकती थी? उन्होंने कभी उससे प्रोजेक्ट लाइट ब्रिगेड का जिक्र नहीं किया था। उन्होंने सावधानी से टटोला,”मैं समझा नहीं तुम क्या कह रही हो?” “यह तो बहुत सरल है। हमारे घर पर हुए यज्ञ के कारण कोई भी अनिष्ट नहीं हुआ।” “परन्तु मैंने तो यज्ञ सम्पन्न नहीं किया था। क्या तुम्हें याद नहीं, मैंने उसमें भाग लेने से इंकार कर दिया था।”

24. Of course, ………. ….. of triumph. (Page 86)

“ठीक है, परंतु हमने रास्ता निकाल लिया था- कम से कम गुरु जी ने हल निकाल लिया था। उन्होंने कहा था कि यदि आप यज्ञ में भाग नहीं लेंगे तो आपका कोई वंशज उसे कर दे तो भी ठीक है। इसलिए हमने आपके स्थान पर खोका से यज्ञ कराया। और इसका फल प्राप्त हुआ। क्या गुरु जी चतुर नहीं हैं?” इन्द्रानी की आवाज में विजय की झलक थी।

25. Duttada formed …………… efficiency. (Pages 86-87)

दत्तादा ने खोका का एक मानसिक चित्र बनायाः यज्ञ करते हुए, बोलते हुए मंत्रों का उच्चारण करते हुए जिन्हें वह समझता भी नहीं था, अग्नि में रुक-रुक कर घी डालते हुए और फूल चढ़ाते हुए……..और फिर यह चित्र बदल गया कान्फ्रेंस में आए वैज्ञानिकों के समूह में, समस्या का विश्लेषण करते हुए, हल निकालते हुए और उन्हें विवेकपूर्ण और कुशलता से लागू करते हुए।

26. It seemed ……………… the answer (Page 87)

यह विश्वास करना कठिन था कि दोनों चित्र समकालीन मानव समाज के विभिन्न पहलू हैं। दत्ताका उस खाई से अवगत थे जो अमीर को गरीब से, शिक्षित को निरक्षर से, साधन-सम्पन्न को साधनहीन से अलग करती है। लेकिन विवेकशील और अंधविश्वासी के बीच की खाई उन्हें और अधिक चौड़ी और भयंकर लगी। क्या मानव समाज इसे खत्म करने में कभी सफल हो सकेगा? दत्तादा को उत्तर का पता नहीं था।

The Comet 2 MCQs Multiple Choice Questions

Question 1.
When would the Comet collide with the earth ?
(a) Nov. 15
(b) Aug. 15
(c) Dec. 15
(d) Jan. 15
Answer:
(c) Dec. 15

Question 2.
Why were underground bunkers not thought upon ?
(a) They were costly
(b) They were impracticable
(c) They were more in number
(d) None of the above
Answer:
(b) They were impracticable

Question 3.
What was the name given to the project ?
(a) Charge of Light Infantry
(b) Charge of Light Brigade
(c) Charge of Light Emission
(d) None of the above
Answer:
(b) Charge of Light Brigade

Question 4.
“I will not buy my Christmas presents before Dec. 15”. Who was the speaker ?
(a) Dr. James
(b) Sir John
(c) Indrani Debi
(d) Manoj Dutta
Answer:
(b) Sir John

Question 5.
Who organised a yajna in absence of Manoj Dutta ?
(a) Manoj’s grandson
(b) Indrani Debi
(c) Hindu society
(d) Guruji
Answer:
(b) Indrani Debi

Question 6.
Who sent an urgent telex to Duttada ?
(a) Dr. James
(b) Taylor
(c) Sir John
(d) An astronomer
Answer:
(c) Sir John

The Complete Educational Website

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *